MLM समाचार नेटवर्क मार्केटिंग के मूल-मंत्र

नेटवर्क मार्केटिंग से क्यों पलायन करते हैं, लोग

Written by Mahender Singh

जैसा कि आप सभी को पता हैए नेटवर्क मार्केटिंग मे व्यापार करना कितना आसान हैए इसमे ना तो कोई बडा आॅफिस खोलने कि जरूरत होती हैए और न ही अच्छी खासी मोटी रकम लगाने की। इसके साथ ही यह व्यापार हर उस व्यक्ति को स्वतंत्र होकर काम करने की आज़ादी देता हैए जो स्वंय का काम करना चाहता है। नेटवर्क मार्केटिंग स्वतंत्र प्रतिनिधियों के एक नेटवर्क के माध्यम से उत्पादों और सेवाओं को लोगो तक पहुंचाय जाता है।

आज नेटवर्क मार्केटिंग का व्यापार जंहा एक ओर तो दुनिया भर मे बादल की तरह छाया हुआ हैए और हर युवा वर्ग की पहली पसंद बन चुका है। तो फिर क्यों लोग नेटवर्क मार्केटिंग / MLM को छोडकर जा रहें है। यह भी एक बडा सवाल हैं। आखिर जब नेटवर्क मार्केटिंग मे कम पैसा लगाकर अपना व्यापार शुरू कर सकतें हैए तो फिर ऐसा क्या कारण जो लोग इस व्यापार से बाहर आना चाहते हैं।

आइए तो फिर जानते हैं उन कारणो को जिन वजह से लोग एमएलएम से कदम खींच रहें हैं।

कारण एक…….. जानकारी का अभाव……. क्या आप MLM मे एक अच्छा नेटवर्क मार्केटर बनना चाहते हैंए तो इसके लिए नेटवर्क मार्केटिंग के बारे जानकारी का होना बेहद जरूरी हैए क्योंकि जानकारी के बिना इस व्यापार मे क्या किसी भी व्यापार मे सफलता नही मिलती। क्योंकि इसलिए जरूरी हैए तभी आप एक सफल मार्केटर बन सकतें है। अन्यथा जानकारी के अभाव मे कोई दुसरा आॅप्शन ढुंडना पडेगा।

Lack of purpose – उद्देश्य की कमी

कई लोगो को तो यही नही पता होता है, कि वह नेटवर्क मार्केटिंग मे काम क्यों कर रहें है, वह इस व्यापार मे क्यों काम करना चाहते है, ना जानते हुए भी करना चाहते है। यदि उन लोगो से पूछा जाएं तो उनका जवाब होगा, पैसा कमाने के लिए, लेकिन कैसे यह पता नही है। पर यह वजह नाकाफी है, व्यापार मे सफलता पाने के लिए। बस यही वजह है, जिसके चलते लोग इस व्यापार मे सफल नही हो पाते हैं, जिसकी वजह से आज लगभग 90 प्रतिशत लोगो को मजबूरन इस व्यापार को छोडना पड जाता है। इसलिए जरूरी है, अपना टारगेट साधकर ही आगे बडे, और अपने उद्देश्य को निर्धारित कर काम करें। क्योंकि जब आपको अपना उद्देश्य ही नही पता होगा तो आप क्या काम करोगे तथा किस लिए कर रहें हो यही नही पता होगा तो सफलता भला कैसे मिल सकती है। इसलिए किसी भी काम मे सफलता पाने के लिए उद्देश्य का होना जरूरी है, और वह उद्देश्य का भली भांति ज्ञान होना चाहिए।

Poor Mentor-ship – नाकारत्मक सोच

आप किसी स्पोंसर के माध्यम से इस व्यापार मे दाखिल हुएं है, तो उसकी जिम्मेदारी यह बनती हैए उसे कंपनी के नए सदस्य यानि के आपको कंपनी के बारे मे सही जानकारी देंए तथा नेटवर्क मार्केटिंग से पूर्ण रूप से अवगत करवाएं। लेकिन अक्सर ऐसा होता नही है, शुरूआती दौर मे तो कंपनी से जूडे नए सदस्य को स्पोंसर कुछ समय तक तो सही जानकारी हांसिल करा देते हैं, लेकिन वक्त से साथ स्पोंसर नए सदस्य का साथ छोड देते है।

लेकिन यह भी जरूरी है, नेटवर्क मार्केटिंग मे उसी व्यक्ति के साथ जूडे जो इस व्यवासाय के बारे मे अधिक जानकारी रखता हो, क्योंकि जितनी ज्यादा आपके स्पोंसर को मार्केटिंग की जानकारी होगी उतनी ही बेहतर ढंग से आप इस व्यपार को समझ पाएंगे, अगर आपके स्पोंसर को ही कुछ नही आता होगा तो वह आपको इस व्यापार मे कंहा तक ले जा सकता है। अगर ऐसा नही है तो छोटा सा व्यापार भी आपको फर्श से अर्श तक ले जा सकता हैए जितना बडा भी बिजनेस हो डुबने मे ज्यादा समय नही लगता। क्योंकि अधूरी जानकारी के सफलता नही पाई जा सकती है। ऐसा व्यक्ति खूद भी डूबता है और लोगो को भी ले डूबोता है।

Early Expectation – प्रारंभिक उम्मीद

नेटवर्क मार्केटिंग मे व्यापार प्रारम्भ करने से पहले लोगो को इससे काफी उम्मीद होती हैए खासकर उन लोगो को जो नऐ नऐ इस व्यापार मे आएं है। लेकिन उनके लिए वह दौर पूर्ण रूप से चुनौती भरें होते है। इसके लिए उनको पहले टारगेट बनाने कि आवश्यकता होती हैए नेटवर्क मार्केटिंग किसी की निजी अपेक्षाओ पर नही चलताए हां लेकिन इसके बारे मे अधिक जानकारी हो तो आप सफलता आपके कदम खूद ब खूद चूमेगी।

Lack of daily activities and goal setting:

नेटवर्क मार्केटिंग व्यापार ऐसा जरूर है, जो कि घर मे ही छोटे सा सेट.अप लगाकर शुरू कर सकते है। किंतु नेटवर्क मार्केटिंग मे अपार सफलता पाने के लिए जरूरी है, अपने लक्ष्य को निर्धारित कर प्रतिदिन कम से कम दौ या तीन घंटे इस व्यापार मे देने जरूरी है। क्योंकि बिना लक्ष्य साधे या फिर रोजाना कम से कम समय न देने से आप इस व्यापार मे ज्यादा दूर तक नही जा पाएंगे, या फिर हो सकता व्यापार के शुरूआती दौर मे ही आपको यह व्यापार छोडकर अन्य लाइन मे जाना पडे। इसलिए जरूरी है, प्रतिदिन का काम और लक्ष्य साध कर अपने व्यापार का प्रमोशन ज्यादा से ज्यादा करके, अपने लक्ष्य को चेक करें, कि रोजाना काम करने से किताना व्यापार मे बढोतरी हुई है, या फिर जो कमी रह गई है, उसकी पूर्ती कर्रें।

Leave a Reply